हम अक्सर ऐसे आर्टिकल्स पढ़ते हैं जिसमें इस बात पर ज़ोर दिया जाता है की एक माँ को जज ना किया जाए. घर हमेशा सज़ा सँवरा नही रह सकता, बच्चे हमेशा सलीके में नही हो सकते, बच्चे होने के बाद ज़रूरी नही की हर औरत करियर और घर दोनो संभालRead More →

Advertisements

मतलब के रिश्ते, मतलब की यारी, मतलब का प्यार, मतलब का लगाव. मतलब से चलती है दुनिया ये सारी, नही समझ पाए तो कीमत चुकाओगे भारी. आज तुम अच्छे हो, सबसे हो बढ़िया, क्या फ़ायदा है उनका, जोड़ लो कड़ियाँ. हाँ में हाँ मिलाते जाओ, सब बात पर हो जाओRead More →

अब बड़ी हो गयी हूँ, किसी की बीवी, किसी की माँ बन गयी हूँ. अब बड़ी हो गयी हूँ, अब अपनी ही ग़लती पर पापा से नाराज़ नही हो सकती, अब तो दूसरों की ग़लती पर भी, कभी कभी मैं ही झुक जाती हूँ. अब बड़ी हो गयी हूँ, माँRead More →

कुछ दिन पहले एक अजीब सा वाकिया हुआ. एक माँ ने फ़ेसबुक पर एक ग्रूप पर ग़लती से यह पूछ लिया की मेरा ढाई साल का बेटा स्कूल का होमवर्क नही करता मैं क्या करूँ? बात इतनी सी थी के वो ये लिखना भूल गयी की जब उसने होमवर्क लिखाRead More →

नन्ही सी गुड़िया मेरे घर आई थी, कच्ची उंगलियाँ, रूई सा स्पर्श, हल्की इतनी जैसे कोमल कोई फूल, बचा बचा कर पकड़ती थी, के कहीं हो जाए ना भूल, दूध पिलाती, तो सीने से चिपकी रहती, ना जाने कब दूध पीते पीते सो जाती. आँख खुलती तो मंध मंध मुस्कुराती,Read More →

” जैसे विदेशी फ़िल्मों में दिखाते हैं ना, सुबह होते ही पति-पत्नी आपस में ‘ लव यू हनी’ कहते हैं…हम लोगों को भी वैसे ही कहना चाहिए, यही तीन शब्द… है ना?” मेरी छोटी बहन विभा की जन्मदिन पार्टी के दौरान चलते हँसी-मज़ाक में उसकी सहेली ने परिहास किया! ”Read More →