आँखें दिखा कर पढ़ने बैठा दिया, ज़रा ग़लती हुई तो ज़ोर से डाँट दिया. माँ ने आकर चुपके से खाना खिलाया, तो सोचा पापा से छुप कर आई होंगी. फिर पता चला पापा ने ही भेजा था, मुझे मनाने के लिए. हमेशा सोचता रहा माँ पसंद की सब सब्ज़ियाँ बनIतींRead More →

Advertisements