Parenting

मेरे पापा

आँखें दिखा कर पढ़ने बैठा दिया, ज़रा ग़लती हुई तो ज़ोर से डाँट दिया. माँ ने आकर चुपके से खाना खिलाया, तो सोचा पापा से छुप कर आई होंगी. फिर पता चला पापा ने ही भेजा था, मुझे मनाने के… Read More ›

एक विवाहित महिला अपने माता-पिता की देखभाल करने के लिए समान रूप से जिम्मेदार है

भारतीय समाज में, आदर्श यह माना जाता है कि बूढ़े माता-पिता की देखभाल के लिए पुरुष जिम्मेदार हैं। लेकिन जो बात हमें चकित करती है वह यह है कि बूढ़े माता-पिता की जिम्मेदारी लिंग के आधार पर विभाजित होती है।… Read More ›

वो इतनी तैयार कैसे? एक नयी तरह का जजमेंट ये भी

हम अक्सर ऐसे आर्टिकल्स पढ़ते हैं जिसमें इस बात पर ज़ोर दिया जाता है की एक माँ को जज ना किया जाए. घर हमेशा सज़ा सँवरा नही रह सकता, बच्चे हमेशा सलीके में नही हो सकते, बच्चे होने के बाद… Read More ›

अब बड़ी हो गयी हूँ

अब बड़ी हो गयी हूँ, किसी की बीवी, किसी की माँ बन गयी हूँ. अब बड़ी हो गयी हूँ, अब अपनी ही ग़लती पर पापा से नाराज़ नही हो सकती, अब तो दूसरों की ग़लती पर भी, कभी कभी मैं… Read More ›

सलाह के नाम पर कितना आंकोगे एक माँ को

कुछ दिन पहले एक अजीब सा वाकिया हुआ. एक माँ ने फ़ेसबुक पर एक ग्रूप पर ग़लती से यह पूछ लिया की मेरा ढाई साल का बेटा स्कूल का होमवर्क नही करता मैं क्या करूँ? बात इतनी सी थी के… Read More ›

मेरी छोटी सी सहेली, मेरी बेटी

नन्ही सी गुड़िया मेरे घर आई थी, कच्ची उंगलियाँ, रूई सा स्पर्श, हल्की इतनी जैसे कोमल कोई फूल, बचा बचा कर पकड़ती थी, के कहीं हो जाए ना भूल, दूध पिलाती, तो सीने से चिपकी रहती, ना जाने कब दूध… Read More ›