Wed. Nov 20th, 2019

Miss Zesty

A Digital Women's Magazine

खुबसूरती जज़्बातों की by Anshu Jha

1 min read

खुबसूरती जज़्बातों की

जज़्बातों मे थी खुबसूरती
आँखो में चमक थी कुछ ऐसी
होठों में दबी थी मुस्कान
दिल मे खव्हिश थे कई
हर पल जीने कि चाहत बधती रही
खुद से प्यार करने लगी
पहले कभी खुद को समझा न था
पर आज एहसास हुआ खुबसूरती जज़्बातों में
दिल मे उतर कर चहरे पर आती हे नज़र
ओर मुसकुराहट बनकर हो जाती हे वो दोगुनी
इसलिए खुबसुरत दिल ने कहा चेहरे पर हँसी रखना
तु खुद खुबसुरत हो जाओगी|

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Copyright © All rights reserved. Newsphere by AF themes.